Posted in Food, Happy parenting

क्या होगा अगर मेरा बच्चा खाना* नहीं चाहता है?

क्या होगा अगर मेरा बच्चा खाना* खाना नहीं चाहता है? कई बार बच्चे खाना* नहीं खाना चाहते। वह अब सुस्त और गुमसुम सा रहता है। ज्यादा देर खेलता भी नहीं। पूरे दिन चिड़चिड़े से रहते है। शाम को खेलने या पड़ने में मन नहीं लगता। इस तरह की समस्या के समाधान दो आसान उपाय हो सकते हैं।

अनिल एक बहुत चंचल बच्चा है, क्लास में भी हर गतिविधि में बाकी बच्चों कि ही तरह भाग लेता रहा है। घर में भी उसे देख कर किसी को खास चिंता नहीं होती थी। मगर पिछले तीन चार महीनों से उसकी ये आदतें बदल सी गई है। वह अब सुस्त और गुमसुम सा रहता है। ज्यादा देर खेलता भी नहीं। पूरे दिन चिडचिड़ा सा रहता है। अब शाम को खेलने या पड़ने में भी उसका मन नहीं लगता। अनिल के घर वाले ये सब महसूस कर रहे हैं। 

क्या होगा अगर मेरा बच्चा खाना* खाना नहीं चाहता है? वह अब सुस्त और गुमसुम सा रहता है। इस तरह की समस्या के समाधान दो आसान उपाय हो सकते हैं।

क्या होगा अगर बच्चा खाना* नहीं खाना चाहते?

अब इस तरह की समस्या के समाधान दो आसान उपाय हो सकते हैं। 

1. यह निश्चित करना की बच्चा बीमार नहीं है या पेट में कीड़े नहीं है, आप डॉक्टर से परामर्श  करें।

2. क्या बच्चे की दिनचर्या में ऐसा कोई बदलाव आया है, जिसके कारण वो ऐसा कर रहा है। 

पहली स्थिति में तो डॉक्टर के दिए दिशा निर्देशों का पालन करें। दूसरी स्थिति में बहुत से कारण हो सकते हैं।

जिनमे से सबसे आसानी के सुधार पाने वाला कारण भोजन  से सम्बन्धित हो सकता है।

यदि हाल ही में आपके बच्चे की खुराक में बदलाव आया है तो

यह भी व्यवहार में बदलाव का कारण हो सकता है। 

बच्चे की बदलती खुराक के कई कारण हो सकते हैं:

  • उनका मूड – वह थका हुआ, परेशान या उत्तेजित महसूस करेगा तो उनकी खुराक में बदलाव होगा। 
  •   उनकी सेहत : बच्चों की सेहत ठीक नहीं होने पर भी उनकी खुराक कम हो जाती है। ऐसे में जब बच्चे ठीक हो जाते हैं, तो वापस खुराक में सुधार आने लगता है। 
  • दिन का समय: यदि हर दिन भोजन करने के समय में बदलाव आता है, तो खुराक भी अलग हो सकती है। 
  • भोजन के प्रकार की पेशकश: परोसे गए भोजन का भी खुराक पर असर होता है। यदि बच्चे ने नाश्ता बहुत सारा या गरिष्ट किया है तो भी उस भूख कम लगेगी। भोजन बच्चे की पसंद का है या नहीं यह भी खुराक में बदलाव लाता है।
  • वे कितने सक्रिय हैं। यदि बच्चा सामान्य रूप से खेलता है या दिन में ज्यादा समय बैठ कर बीतता है तो दोनो स्थिति में उसकी खुराक में अंतर होगा।

  • यदि आपका बच्चा कभी-कभी भोजन नहीं करता या बहुत कम खाता है तो यह ठीक है।
  • एक बार का भोजन या स्नैक  छूट जाने से बच्चे के स्वास्थ को नुकसान नहीं पहुंचता। “नहीं” कहना आपके बच्चे की पसंद या आज़ादी का तरीका भी है।
  • यदि आपका बच्चा खाने के लिए नहीं बैठ सकता है, तो भोजन या नाश्ते से पहले कुछ समय उस शांत वातावरण दें।
  • भोजन के समय को शांत रखें और टीवी, सेल फोन, टैबलेट और कंप्यूटर बंद कर दें।
  • खाने के लिए पुरस्कार के रूप में मिठाई या पसंदीदा भोजन का उपयोग करना आवश्यक नहीं है।
  • यदि आपका बच्चा भोजन पसंद नहीं करता है, या खाना नहीं चाहता है, तो भोजन को हटा दें और 1 से 2 घंटे बाद एक स्वस्थ नाश्ता पेश करें।

इस तरह उस धीरे से ये समझ में आएगा कि खाना हर समय उपलब्ध नहीं होगा।

उस जब भोजन परोसा गया है, तब नहीं खाने पर, फिर उसे अगले कुछ घंटे कुछ नहीं मिलेगा।

इस तरह उसकी आदत पड़ जाएगी।

शुरू में ऐसा करना थोड़ा कठिन होगा या अच्छा नहीं लगेगा,

मगर, एक दो हफ्ते में बच्चे की खुराक और आदतों में बदलाव जरूर आयेगा।

मां के दिमाग में आने वाले कुछ और सवाल – 

अपने और बच्चे के  जीवन को आसान करने के लिए आप सभी को शुभकामनाएं

Happy childhood is every child’s right.

All the best wishes to you on this amazing journey. This will surely give us easy life.

If these tips help you in finding your answer, please comment. You can also comment, if you are having any other questions related to parenting. 


Posted in Food, Happy parenting

खाना? मुझे अपने बच्चे को कब खाना परोसना चाहिए?

खाना? मुझे अपने बच्चे को कब खाना परोसना चाहिए?

खाना? मुझे अपने बच्चे को कब खाना परोसना चाहिए?बच्चों को खाना खिलाना, मां का दिन भर का सबसे बड़ा काम हो सकता है, और सबसे ज्यादा समय लेने वाला भी। इसी बीच जब बच्चे की थाली परोस दी गई है, पर वह नहीं खाता तो, मां, दिन भर उसके खाने की चिंता करती रहती है। ऐसे में एक प्रश्न जो मां के दिमाग में आता है –

मुझे अपने बच्चे को कब खाना परोसना चाहिए?

अक्सर इस प्रश्न के कई तरह के उत्तर मिलते हैं, जो, आस पास के लोग या घर के बड़ों के हम तक पहुंचते हैं।

अक्सर हम पूरे समय बच्चे के पीछे खाना लेकर घूमते रहते हैं। और कई बार हम बच्चे को जबरदस्ती खिलते है।

मुझे अपने बच्चे को कब खाना परोसना चाहिए?

अब आप ये तरीके भी अपनाकर देखें।

  • पूरे दिन खाने के लिए पीछे भागने के बदले, अपने बच्चे को दिन में 3 बार नाश्ता और 2 बार पूरा भोजन दें। 
  • हर दिन लगभग एक ही समय पर भोजन और नाश्ता परोसने का प्रयास करें। 
  • भोजन और नाश्ते का एक योजना बद्ध अनुकरण आपके बच्चे में खाने की आदतों को विकसित करने में मदद कर सकती है।
  • आपके बच्चे को आपके मुकाबले खाने में अधिक समय लग सकता है।
  •  उन्हें खाने को खत्म करने का समय दें। 
  • यदि आपको लगता है कि बच्चे का खाने में मन नहीं लग रहा और वो खाने से खेल कर रहा है, तो उसके सामने के खाना हटा दें, और उसको मेज से उतर कर खेलने छोड़ दें। 
  • इस तरह धीरे से बच्चा ये समझ जाएगा कि खेलना और खाना एक साथ नहीं हो सकता।
  • यदि बच्चे को कोई स्वस्थ से सम्बन्धित दिक्कत नहीं है, और वह रोज खेल कूद कर रहा है तो निश्चित रहें।
  •  बच्चे कभी भी भूखे नहीं रहते, वो अपनी आवशयकताओं के अनुसार खा लेते हैं।
  • बच्चे को दिन भर ना खिलाएं, इससे उन्हें भूख का अहसास नहीं होता।

Happy childhood is every child’s right.

All the best wishes to you on this amazing journey. This will surely give us easy life.

If these tips help you in finding your answer, please comment. You can also comment, if you are having any other questions related to parenting. 

Posted in Food, Happy parenting

How much food my child needs? Appetite of your child

Photo by Tiago Pereira on Pexels.com

How much food my child needs?

How much food my child needs? This is one more question that arises in parent’s mind everyday when they server them any of the meals. How much food my child needs?This question also pops up when people enquire and compare their child with other children.

How much food my child needs?

Healthy eating habits and stress free childhood is an indicator of healthy parenting, in the world of parenting.

The appetite of young children can change from one day to the next. 

Parent’s mindsets while serving food to their child:

 As parents or caregivers, you decide:

  • What kind of food we serve to our child. : As mother it becomes tough to choose between the healthy food that we want to serve to our children and whatever he eats.
  • What time of day are we serving food. As mothers, we just always look for a chance to feed our children. Feeding children is a full time project for any mother.
  • the place where the food will be served: that is a trick point. For most of the mothers, it is wherever child sits to eat. But honestly, especially in toddlers case, they never sit in one place, long enough to finish their meal.

Your child decides:

  • among all the food that is served, which ones are worth eating. And which are not appealing and can be rejected by showing tantrums.
  • how much should I eat: they also decide how hungry they are and what amount of food is ok for them.

How much food my child needs?

We will get the answer by trying the following ways which will make you happy parents.

  • Start feeding your child in small amounts and let them re-ask if needed. Your child will respond according to his need.
  • Occasionally, your child will starve and eat a lot. So, give him the second serving. This way he will not see full plate at a time.
  • He  will eat less when not much Hungry. This is normal. If your child is not hungry, do not pressurize or bribe him to eat or to finish the meal.
  • Do not serve many munching in between, that reduces his craving for food at the time of meal.
  • If your child is active and happy then there is nothing to worry about. A starving child will not be active and happy throughout the day.
  • During the meal time if your child denied eating, please take away the food. Do not ask or pressurized him for eating for another 1-2hours. He will surely eat the next time you offer him.
  • Timely eating will also help in knowing the answer to your question.
  • If you still have any questions about your child’s development or hunger, talk to your doctor.

Happy childhood is every child’s right.

All the best wishes to you on this amazing journey. This will surely give us easy life.

If these tips help you in finding your answer, please comment. You can also comment, if you are having any other questions related to parenting. 

Posted in Food, Happy childhood, Happy parenting

We can teach our children to eat and enjoy food.

As parents, we can teach our children to eat and enjoy food. It will make our lives easier. These ways will be helpful to every mother, in building healthy eating habit.

Eat properly. Mothers say this most of the times.

What can I do to help my child eat well? There is a question that always pops in my mind and to every parent at some point of time. How will my child eat well.

There is no fixed answer to this question, but there is a list of ways, that can surely help in solving this problem.

Photo by Igor Starkov on Pexels.com
  • Sit and eat with your child and serve every thing in small portions, that you have served in your plate.
  • Show your child what eating healthy is like. You are your child’s best role model. They will learn to eat and explore new foods by watching what you do.
  • Offer new foods many times. They often need to see, smell and touch a food many times before tasting it.
  • Your child may need to taste a food many times before they eat it. So,Continue to offer new foods and include foods your child has refused in the past.
  • Give your child enough time to eat.
  • Young children learn by touching, smelling and looking at foods.
  • Give your child time to learn about the foods you offer. Learning to use a spoon and fork also takes time.
  • Plan time to sit and eat slowly with your child.
  • Making Mess at home is also part of learning.
  • Try offering the same food in different ways.
  • Be patient and keep giving your child foods made in different ways: raw, cooked (steamed, roasted), in stews, soups and sauces.
  • If your child likes vegetables cooked a certain way, give them other vegetables made that same way.
  • Offer new foods with foods your child already likes.
  • Offer new foods often and serve them with food that your child likes.
  • If your child doesn’t want to eat or eats very little for a meal, offer a healthy snack 1 to 2 hours later.
  • Making a different meal for your child will not help them become a healthy eater.
  • Sometimes young children only want to eat the same foods over and over again. It is normal and may last for a few weeks or months.
  • If the “favourite” food is healthy then continue to offer it along with a variety of other healthy foods.
  • If the “favourite” food is a less healthy option,then give it to your child less often.

As parents, we can teach them to enjoy food and it will make our lives easy.

Wishing you happy parenting, that leads to happier you.

Please find other useful links related to stabilising healthy eating habit in children, which leads to healthy and happy childhood.